BharatTextile.com > हिंदी समाचार (Hindi Textile News)
 

नई दिल्ली: गूची ब्रांड का साडी उद्दोग मे प्रर्दापण

भारतीय नारी पहनेगी विदेशी ब्रांड साडीया। भारत देश मे साडी एक पारंपारिक पोशाख माना जात है। साडीयो मे. अब डिजाइनर साडीया और पारंपारिक पैठ्णी साडी योंकि मांग बड रही है। भारतीय देशो मे विदेशी पोशाख और विदेशी ब्रांड के कपडोंकी मांग जादा है, भारतीय देशो मे साडी की लोकप्रियता देख कर इटली ब्रांड गुची भी भारतीय पोशाकों को बाजार के रुप मे देख रही है, जिससे जल्द ही साडी के लिये विदेशी ब्रांड पहनेका आपका सपना भी पुरा हो साकता है। स्थानिय परंपरा और डिजाइनो का इस्तमाल करके लग्जरी ब्रांड कंपनी गुची ने पारंपारिक भारतीय परिधानो पर काम करने की और सीमित घरेलु कलेक्शन भी पेश करने का विचार कर रही है। गुची के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क ली इन दिनों भारत मे है। उनका कहना है कि वह अपने इटली स्थित डिजाइन केन्द्र मे भारतीय डिजाइनो को रखने के बारे में भी सोच रही है। गुची की सालाना विक्री लगभग १३,७०२ करोड रुपये है। इस लग्जरी ब्रांड कंपनी के चीन मे १८ सेभी अधिक स्टोर है, जिनमें चीनी बाजार को ध्यान मे रख कर एक समिती सग्रंह पेश किया गया। इस संग्रह में बैग (लाल रंग के, जो पारंपारिक रुप से चीन से जुडा हुआ है) और पांडा के आकार का साँप्ट टाँय और बाइसाइकिल चीन के पारंपारिक रंग लिए हुए पेश की गइ है। २००५ मे कंपनी को बातौर मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त होने के बाद अपने साक्षात्कार में ली ने कहा, हम भारतीय पारंपारिक परिधानो पर काम करने के बारे में सोच रहे है। और इसलिये सीमित संग्रह भी बनाऎंगे ली ने कहा की अभी उनकी डिजाइन टीम मे कोई भी भारतीय शामिल नही है, पर उसके लिये अभी समय निश्चित नही है। यह सिर्फ भारतीय बाजारों पर निर्भर करता है। कि उनमे गुची कि वृध्दी के क्या लक्षण है। अभी गुची के मुरजानीज के साथ फ्रैंचाइजी के लिए गठजोड है, जिसके कारण मुबंई और दिल्ली मे एक-एक स्टाँर है इसके साथ ही कंपनी जल्द ही दो नए स्टँर खोलने वाली है, जिसमें से एक बेंगलुर मे होगा। अगर गुची के उत्पाद के आलेख पर नजर डाले तो कंपनी एक पुर्ण लग्जरी श्रॄंखला पेश करती है। जिसमे बैंग, जूते, चप्प्ले रेडीमेंट कपडे, परप्यूम, घडिया आदि शामिल है। ली का मानना है कि रिटेल स्टाँर का किराया देश के लग्जरी ब्रांड के विस्तार पर निर्भर है। गुची अपने उत्पादो कों लेकर बडे शहरों के साथ साथ छोटे शहरो की और भी जाएगी, जहा अन्य विदेशी ब्रांड नही जाते। गुची समुह एक सार्वजनिक सुचीबध्द कंपनी है (पिनाँल्ट प्रिंटेम्पस रीडुट समूह का अंग) की ब्रांड श्रृंखला भी काफी बडी है, जिसमें से गुची एक है। वाईएलस, सर्जियो रोसी, स्टेला मैकार्टनी, बोटेजा वेनेता, बेदात ऎंड कंपनी (घडियां) और रोजर ऎंड गैलेट (परप्यूम) आदि इसके अन्य ब्रांड है। ली के अनुसार सभी ब्रांड के प्रमूख साल मे चार बार मिलते है ।हर ब्रांड कि अपनी वीशेषतांए है, ऎस मे भी वे बूनीयादी ढांचों को आपस मे बांटते है, जैसे कि वेयरहाउस और प्रबंधन प्रणाली आदि। समूह के उत्पादों एक जैसी श्रॄंखला बाजार मे उतरती है, पर उनमे कोई प्रतीस्पर्धा नही होती। वो अपने उत्पाद के बिक्रि पर खुल कर बाते करते है, इसका उद्देश आंतरिक ब्रांड मे नही, अन्य ब्रांडो से बाजार मे दो-दो हात करना है।
This news requires a unicode font to be installed on your system.

Home Articles Newsroom Statistics Fashion Machinery Fibre Dictionary Glossary Register Free Join BharatTextile.com My BharatTextile हिंदी समाचार
About usTerms & ConditionsDisclaimerPrivacy policy • 19-11-17
Website Design by InWiz © - 2000-2017. Inwiz. All rights reserved.